1.19 करोड़ से 9 राजकीय स्कूलों की होगी मरम्मत, साइकिल स्टैंड भी बनेंगे

थोड़ी सी मरम्मत के फेर में बदहाल बने जिले के नौ राजकीय स्कूलों की सूरत अब बदलेगी। इनके मरम्मत के लिए सरकार ने डेढ़ साल बाद एक करोड़ 19 लाख का बजट स्वीकृत किया है। इन नौ स्कूलों में 30 से अधिक कमरे गर्मी, सर्दी और बारिश झेलने की स्थिति में नहीं हैं, जबकि तीन में साइकिल स्टैंड की कमी खल रही है। सरकार की ओर से बजट राशि स्वीकृत करते ही पीडब्ल्यूडी ने टेंडर आमंत्रित करने की प्रक्रिया पर काम शुरू कर दिया है और 20 फरवरी तक यह काम पूरा होने की उम्मीद है। जिले के 365 प्राइमरी, मिडिल, हाई व सीनियर सेकेंडरी स्कूल हैं। इनमें से अधिकतर स्कूल 45 से 50 साल पुराने हैं और इनके भवनों को मरम्मत की जरूरत है। इसी कड़ी में शिक्षा विभाग ने करीब डेढ़ साल पहले नौ स्कूलों में मरम्मत करवाने की योजना तैयार कर फाइल मुख्यालय भेजी थी। लंबे समय तक यह फाइल ठंडे बस्ते में रही। अब सरकार ने इस पर संज्ञान लेते हुए बजट राशि स्वीकृत की है। बजट राशि से स्कूलों में कंडम कमरों, छत व चहारदीवारी की दशा सुधारी जाएगी, जबकि जरूरत के अनुसार साइकिल स्टैंड का निर्माण भी करवाया जाएगा।इन स्कूलों में बनने हैं साइकिल स्टैंड,
नौ स्कूलों में से तीन में साइकिल स्टैंड की कमी बनी हुई है और स्कूल प्रबंधन समिति कई दफा इस मांग को उठा चुकी है। अब सरकार ने जो बजट राशि मंजूर की है.