ओमिक्रॉन: डीडीएमए ने बनाया प्लान, दिल्ली में ऐसे टूटेगी कोविड संक्रमण की चेन? अभी जारी रहेगा येलो अलर्ट

उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में बुधवार दिन में हुई दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक में कोविड संक्रमण को लेकर आगे की रणनीति तय की गई।

कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के आने के बाद से बदली स्थिति और बढ़ते कोविड संक्रमण पर विस्तार से बात की गई। पूरी स्थिति की विस्तृत समीक्षा और विशेषज्ञों की राय के बाद कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए कोविड अनुरूप बर्ताव का कड़ाई से पालन कराने का निश्चय किया गया।

संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मामलों की पहचान, संपर्क में आने वालों की पहचान और उनके उपचार पर जोर देने का फैसला किया गया। इसके साथ ही मामलों की करीब से निगरानी, कंटेनमेंट जोन का निर्धारण, कोविड संक्रमण का शिकार होने वाले और होम आइसोलेशन में रहने वालों की भी करीब से निगरानी की जाएगी। ताकि, कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके।

उप राज्यपाल अनिल बैजल ने स्वास्थ्य विभाग को अपनी तैयारियों को और भी ज्यादा चौकस करने को कहा ताकि किसी भी स्थिति में लोगों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा सके।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन, मंत्रि कैलाश गहलोत, नीति आयोग के डॉ. वीके पॉल, एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, एनसीडीसी के डॉ. एसके सिंह व अन्य अधिकारी शामिल रहे।

अभी जारी रहेगा येलो अलर्ट

दिल्ली में अभी हालात पूरी तरह से काबू में हैं और अस्पताल में बेड खाली पड़े हैं। सूत्रों की मानें तो दिल्ली आपदा प्रबंधन की बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अभी दिल्ली में येलो अलर्ट जारी रखने की बात कही।