बेटी को बोझ मान कुएं में फेंका, यूं बची जान- राजस्थान के कलयुगी बाप की काली करतूत

बेटी को बोझ समझकर कुएं में फेंकने वाले कलयुगी पिता को आखिर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। शनिवार को यह बच्ची एक कुएं में गले तक डूबी थी और पाइप पकड़े खड़ी थी। उसके रोने की आवाज सुनकर खेत में काम करने वाली दो महिलाओं ने उसे बचाया था। खेत के मालिक रामलाल कुमावत की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामला दर्ज किया। सीसीटीवी फुटेज के जरिए पुलिस बेटी की हत्या का प्रयास करने वाले कलयुगी के पिता तक पहुंची।

डिप्टी एसपी बेनीप्रसाद मीणा ने बताया कि थाना क्षेत्र के रेगर मोहल्ला कृषि फार्म हाउस निवासी सुशील (33) पुत्र मांगीलाल को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने 80 सीसीटीवी फुटेज की जांच की। पिता को संदिग्ध मानते हुए पूछताछ की। आरोपी पिता ने पुलिस पूछताछ में कबूल कर लिया कि उसने ही बेटी को कुएं में फेंका था।

थाना अधिकारी डॉ हनवंतसिंह राजपुरोहित ने बताया बेटी को कुएं में फेंकने वाला पिता सुशील अनपढ़ नहीं बल्कि पढ़ा लिखा है। उसने बीसीए, एमसीए और होटल मैनेजमेंट का कोर्स किया हुआ है। नौकरी नहीं मिलने के कारण वो बेटी के खर्चों को लेकर तनाव में था।