पहला टीका लगवाने वाली ऋतिका बोली-खत्म हुआ डर, बिहार में CM नीतीश ने किया बच्चों के टीकाकरण अभियान का शुभारंभ?

सीएम नीतीश कुमार ने इंदिरा गांधी इंस्‍टीच्‍यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस (आईजीआईएमएस) के वैक्‍सीनेशन सेंटर में वैक्‍सीनेशन ड्राइव की शुरुआत की। इस मौके पर सबसे पहला टीका ऋतिका नाम की बच्‍ची को लगा। ऋतिका ने कहा कि वह और सारे बच्‍चे कोरोना टीके का इंतजार कर रहे थे। टीकाकरण की घोषणा होते ही उसने ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन कराया और आज यहां आकर सबसे पहले टीका लगवाया। ऋतिका ने कहा कि अब कोरोना का डर नहीं रहेगा।

सीएम नीतीश ने कहा कि 15 से 18 साल के बच्‍चों को टीका लगाने का काम अब तेजी से किया जाएगा। राज्‍य में 15 से 18 साल के बीच के बच्‍चों की संख्‍या कितनी है। उन्‍होंने बताया कि अब जीनोम सिक्‍वेंसिंग की जांच के सैंपल भी बाहर भेजने की बजाए यहीं होगी।

किशोरों के कोरोना टीकाकरण का मेगा अभियान आयोजित किया जाएगा। पटना में 87 केंद्र बनाए गए हैं। टीका लेने के बाद बच्चों को आधे घंटे तक टीकाकरण केंद्र पर रोका जा रहा है। राज्य के प्रत्येक प्रखंड में एक विद्यालय को किशोरों के टीकाकरण को लेकर टीकाकरण केंद्र बनाया गया है।