थाना घिरा तो माफी मांग खुद बांधी पगड़ी, दुष्यंत का विरोध करने वाले को पकड़ा; धक्कामुक्की में पगड़ी गिरी

हरियाणा के सिरसा जिले के गांव जमाल में मंगलवार देर शाम डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की चुनावी सभा के दौरान हुए विवाद में किसान नेता को गिरफ्तार किया गया था। इसके विरोध में मंगलवार रात को सैकड़ों किसानों ने नाथूसरी चौपटा पुलिस थाने को घेर लिया। इस दौरान पुलिस की तरफ से हुई धक्कामुक्की के दौरान किसान नेता सिकंदर रोड़ी की पगड़ी गिर गई। इससे किसान भड़क गए। किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी के अचानक मौके पर पहुंचने के बाद मामला और गरमा गया। किसानों की बढ़ती भीड़ और रोष को देखते हुए रात साढ़े 12 बजे के करीब पुलिस की ओर से घटनाक्रम पर माफी मांगी गई। पुलिस चौकी इंचार्ज ने किसान नेता को पगड़ी बांधी और इसके बाद ही मामला सुलटा।

किसान नेता से पुलिस की धक्का मुक्की

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला मंगलवार को ऐलनाबाद उपचुनाव में भाजपा-जजपा के प्रत्याशी गोविंद कांडा के लिए वोट की अपील करने आए थे। देर शाम चौटाला गांव जमाल पहुंचे तो वहां किसानों ने उनका विरोध किया। एक वायरल वीडियो में किसान उनको खूब खरी खरी सुना रहे हैं। किसानों ने एक छत पर खड़े होकर उनको काले झंडे दिखाए और नारेबाजी की। कुछ देर बाद एक और वीडियो वायरल हुआ, जिसमें पुलिस और भाकियू सिरसा के जिला प्रधान सिकंदर रोडी के साथ पुलिस की धक्का मुक्की चल रही है। इस दौरान किसान नेता की पगड़ी खुल कर गिर जाती है। पुलिस उन्हें डिप्टी सीएम की सभा में खलल डालने के आरोप में गिरफ्तार करने आई थी। इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच खूब विवाद हुआ। बाद में पुलिस रोड़ी और कुछ अन्य किसानों को पकड़ कर थाने ले गई।

अभय चौटला भी विवाद में कूदे

इनेलो प्रत्याशी अभय सिंह चौटाला भी देर रात किसानों और पुलिस के बीच चल रहे विवाद में कूद पड़े। उन्होंने एक वीडियो जारी करके कहा कि जमाल में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानों पर हुआ अत्याचार सरकार की कायरता को दर्शाता है। इस तानाशाही सरकार का अंत ऐलनाबाद की पावन धरा से शुरू होना निश्चित है। अभय ने कहा कि दुष्यंत की जनसभा के दौरान पुलिस बल द्वारा किसानों के साथ अत्याचार किया गया। उन्होंने ऐलनाबाद की जनता से किसानों के साथ हुए अत्याचार और सिख किसान की पगड़ी के अपमान की घटना का बदला भाजपा -जजपा गठबन्धन के खिलाफ वोट करके लेने की अपील भी की।