तीसरी बार डेथ वारंट जारी होने के बाद निर्भया के दोषियों का व्यवहार आक्रामक हो गया है|

फांसी की सजा से बचने के लिए निर्भया के दोषी विनय ने एक और तिकड़म अपनाया है। 2012 दिल्ली गैंगरेप के दोषी विनय ने तिहाड़ जेल की दीवार में अपना सिर मार लिया है। तिहाड़ जेल प्रशासन ने कहा कि 16 जनवरी को निर्भया के दोषी विनय ने जेल की दीवार से सिर मारा, जिसमें वह मामूली रूप से घायल हो गया। इससे पहले विनय तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल पर चला गया था।

विनय तिहाड़ जेल के तीन नंबर सेल में अकेला बंद है। 16 फरवरी को उसने दीवार में सिर और मुक्का मारा, जिससे वह घायल हो गया। सेल में ही डॉक्टर ने उसका उपचार किया था। सेल के बाहर बैठे वार्डन भी बचाने के लिए नहीं पहुंचा था। जेल के सूत्रों का कहना है कि वह तनाव में आ गया है, जिसकी वजह से उसने ऐसा किया। जेल सूत्रों की मानें तो दोषी विनय को मनोचिकित्सक से भी दिखाया गया था।

दरअसल, दोषी विनय के सारे कानूनी विकल्प खत्म हो चुके हैं। सुप्रीम कोर्ट ने विनय शर्मा की याचिका को खारिज कर उसके फांसी का रास्ता साफ कर दिया है, जिसमें राष्ट्रपति द्वारा उसकी दया याचिका की अस्वीकृति को चुनौती दी गई थी। बता दें कि बीते दिनों फांसी से बचने के लिए दोषी वियन ने नया हथकंडा आजमाते हुए भूख हड़ताल पर बैठ गया था। हालांकि, कोर्ट ने तिहाड़ जेल के प्रशासन को कानून के अनुसार विनय का ध्यान रखने के निर्देश दिए।

admin surya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *