देश में कोरोना के अब तक 83 पॉजिटिव केस, राजस्थान में स्कूल-कॉलेज बंद

चीन से फैला कोरोना वायरस अब दुनियाभर में कहर मचा रहा है। इटली, ईरान आदि जैसे देशों में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। भारत में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसके अलावा देश में शुक्रवार को कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर दो हो गई। तेजी से फैल रहे इस वायरस को रोकने के लिए कई राज्यों ने स्कूलों, कॉलेजों, सिनेमाघरों को बंद कर दिया है और ज्यादातर सार्वजनिक कार्यक्रम भी रद्द कर दिए गए हैं।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, गुरुवार रात से अभी तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के और आठ मामलों की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 83 हो गए हैं। इनमें 17 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि इन 83 लोगों में दिल्ली की 68 वर्षीय महिला और कर्नाटक का 76 वर्षीय पुरुष भी शामिल हैं। दोनों की मौत एक से ज्यादा बीमारियों के कारण हुई है लेकिन दोनों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई है।

 देश में दिल्ली, कर्नाटक, महाराष्ट्र और केरल सहित 11 राज्यों या केन्द्र शासित प्रदेशों में कुल 82 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। ओडिशा कैबिनेट ने इस घातक वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कोविड 19 नियम 2020 को आज मंजूरी दी। मणिपुर सरकार ने भी इस सिलसिले में नियम जारी किए हैं।

 केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के प्रशासन ने आज बताया कि अभी तक दो लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। जबकि 159 लोगों ने 28 दिन तक पृथक रहने की अपनी अवधि पूरी कर ली है।

 अधिकारियों ने पत्रकारों को बताया कि 118 देशों में इस महामारी से अभी तक 5,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और 1.31 लाख से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं। लेकिन यह स्वास्थ्य आपातकाल नहीं है और घबराने की जरुरत नहीं है।

 केन्द्र ने तय किया है कि सीमा पर बने 37 जांच चौकियों में से महज 19 पर आवाजाही की अनुमति होगी और अगले आदेश तक भारत-बांग्लादेश यात्री ट्रेनें और बसें 15 अप्रैल तक नहीं चलेंगी।

 गूगल ने पुष्टि की है कि हाल ही में यूनान से बेंगलुरु लौटे उसके कर्मचारी के कोविड-19 से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।

 ओडिशा में भी सभी शिक्षण संस्थान 31 मार्च तक बंद कर दिए गए हैं। हालांकि परीक्षा देने की अनुमति दी गयी है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय और जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय ने अपनी कक्षाएं निलंबित कर दी हैं। पश्चिम बंगाल में विश्व भारती विश्वविद्यालय ने विदेशी नागरिकों को छोड़ कर सभी छात्रों को फौरन हॉस्टल खाली करने का निर्देश दिया है।

admin surya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *