14 जनपदों में 28041 विद्यालयों में लगेगा अल्ट्राफिल्ट्रेशन पर आधारित जल शोधन संयत्र

योगी सरकार बच्चों को दूषित जल से होने वाली बीमारियों से बचाने के लिए और पीने के लिए शुद्ध पानी उपलब्ध कराएगी। प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री आरओ पेयजल योजना के तहत प्रदेश के 14 जनपदों में 28041 विद्यालयों में अल्ट्राफिल्ट्रेशन तकनीक पर आधारित जल शोधन संयत्र लगवाए जाएंगे ताकि बच्चों को पीने के लिए शुद्ध जल उपलब्ध हो।

योगी सरकार प्रदेश में सभी को पीने के लिए शुद्ध जल उपलब्ध कराने के लिए निरंतर कार्य कर रही है। इसी दिशा में प्रदेश सरकार का प्रयास है कि स्कूलों में बच्चों को पीने के लिए शुद्ध जल उपलब्ध हो। ऑपरेशन कायाकल्प की सफलता के बाद योगी सरकार ने यह मुहिम हाथ में ली है।

 शुरुआत में सरकार  प्रदेश के 14 जनपदों के 28041 स्कूलों में  जल शोधन संयत्र लगवाने जा रही है जो बाद में पूरे प्रदेश में किया जायेगा। इसके लिए 2022-23 के बजट में प्रावधान किया गया है।

 इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि इससे बच्चों को दूषित जल के कारण होने वाली बीमारियों से बचाया जा सकेगा। इससे संचारी रोगों पर रोकथाम में भी बड़ी मदद मिल सकेगी।

गौरतलब है कि योगी सरकार बुंदेलखंड जैसे इलाकों में पीने के लिए शुद्ध जल पहुंचाने के लिए कार्य कर रही है, जहां आजादी के बाद से किसी अन्य सरकार ने इस दिशा में सोचा तक नहीं था। योगी सरकार ने 2021-22 के बजट में जल जीवन मिशन के अंतर्गत 15000 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया था, जिसके सापेक्ष 2022-23 के बजट में 19,500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।